जिग्नेश मेवानी : दलित संघर्ष ने दिलाई पहचान

जिग्नेश मेवानी दलित समुदाय से आते हैं, गुजरात विधानसभा की बडगाम सीट से विधायक हैं.

अहमदाबाद में 1980 में जन्मे जिग्नेश वकील, मानवाधिकार कार्यकर्ता व राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच के संयोजक हैं.

जिग्नेश ने साइंस की पढ़ाई छोड़ 2003 में अंग्रेजी साहित्य में स्नातक किया और सिविल सोसायटी से जुड़े.

जिग्नेश ने तीन साल तक मुंबई में गुजराती भाषा की मैगज़ीन 'अभियान' में बतौर पत्रकार काम किया.

किसानों की आत्महत्या, कृषि सुधार, ग्रामीण अर्थव्यवस्था के मुद्दों पर जनसंघर्ष मंच और अन्य संगठनों से जुड़े.

जिग्नेश ने सुरेंद्रनगर-अहमदाबाद में भूमिहीनों के लिए 2015 में 110 से ज्यादा RTI डालकर उन्हें ज़मीन दिलाई.

दलितों पर ज़ुल्म को लेकर 30 संगठनों को जोड़कर ऊना दलित अत्याचार लड़ाई समिति बनाई, ऊना मार्च निकाला.

जिग्नेश वर्ष 2017 में कांग्रेस, AAP जैसे दलों के समर्थन से वडगाम सीट से विधानसभा चुनाव जीते.

जिग्नेश को अप्रैल, 2022 में PM नरेंद्र मोदी के खिलाफ विवादित ट्वीट के बाद असम में गिरफ्तार किया गया.

For More Story Click Here

Click Here